पापा जिस बस में कंडक्टर थे उसी में छेड़खानी देख ठाना IPS बनना है,

पापा जिस बस में कंडक्टर थे उसी में छेड़खानी देख ठाना IPS  बनना है,

 आज हम आपको एक ऐसी महिला  IPS Officer की संघर्षशील कहानी बताएंगे, जिसने छोटी सी उम्र में Bus में महिला के साथ छेड़खानी होते देखी तो तो केवल उन्हें सबक सिखाया बल्कि उसी दिन से उसने  police सर्विस में जाने की ठान ली। आज वही मामूली से  bus कंडक्टर की जांबाज बेटी  IPS Officer है और जमकर अपराधियों की खबर ले रही हैं। इस जांबाज बेटी का नाम है शालिनी अग्निहोत्री जिन्होंने 2012 की Civil Services Examination देकर ये मुकाम हासिल किया। साधारण से परिवार से आने वाली  Shalini के लिए अपने इस सपने को साकार करना इतना आसान नहीं रहा।

शालिनी हिमाचल प्रदेश के ऊना के ठठ्ठल गांव की रहने वाली हैं। पिता  HRTC में बस कंडक्टर हैं। उनके घर से कोई भी पहले से Sarkari services  में नहीं था। Shalini ने बचपन में ठान तो लिया था कि उन्हें  police में जाना है लेकिन इसके लिए कैसे तैयारी करनी है इसके बारे में बताने वाला कोई नहीं था। Shalini बताती हैं कि उनको बचपन से उनके माता पिता ने कभी किसी भी चीज़ की कमी नहीं होने दी जो बन पड़ा किया। परिवार का यही सपोर्ट उन्हे अपने सपने को पूरा करने में कारगर रहा।

Shalini बचपन से ही खुले मिजाज की लड़की थीं। उन्हें जो अच्छा लगता वो करती। उनकी Dadi बताती हैं कि शालिनी बचपन में लड़कियों के साथ नहीं बल्कि लड़कों के साथ कंचे खेला करती थीं। शालिनी हमेशा से ही मेहनती छात्र में गिनी जाती थी। स्कूल में उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहता था। उनकी शिक्षा धर्मशाला से हुई है और आगे की पढ़ाई उन्होने हिमाचल प्रदेश Agriculture University से की। 12वीं के बाद शालिनी को पता चला कि सारे प्रशासनिक और रुतबे वाले अधिकारी  UPSC नाम की परीक्षा से ही निकलते हैं। शालिनी ने भी परीक्षा देने का मन बनाया। ग्रेजुएशन के बाद मई 2011 में उन्होंने UPSC की परीक्षा दी थी, जिसका इंटरव्यू मार्च 2012 में हुआ और परिणाम भी उसी वर्ष मई में गया।

परीक्षा में Shalini को All india  लेवल पर 285वीं Renkमिली। इसके बाद दिसंबर 2012 में हैदराबाद में उन्होने ट्रेनिंग ज्वॉइन की, जिसमें वह Topar रहीं। शालिनी अपनी मेहनत और लगन के दम पर ना केवल IPSअधिकारी बनी बल्कि ट्रेनिंग के दौरान उन्हें सर्वश्रेष्ठ ट्रेनी का खिताब से भी नवाजा गया। सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर ट्रेनी आफिसर होने के कारण उन्हें देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा सम्मानित भी किया गया। शालिनी की पोस्टिंग जब कुल्लू में हुई तो शालिनी ने नशे के अवैध कारोबार पर पूरी तरह रोक लगाने में कामयाब हुईं और इसके खिलाफ बड़ा अभियान शुरू किया था।

vicky Author: vicky

Hello, I am Author, decode to know more: In commodo magna nisl, ac porta turpis blandit quis. Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. In commodo magna nisl, ac porta turpis blandit quis. Lorem ipsum dolor sit amet.

Previous
Next Post »

E-mail Newsletter

Sign up now to receive breaking news and to hear what's new with us.

Recent Articles

© 2014 Latest News & Job. WP themonic converted by Bloggertheme9. Powered by Blogger.